fbpx

Complete Indian Economy in Hindi PDF/भारतीय अर्थववस्था के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

0

Indian Economy in Hindi PDF

हेलो दोस्तों आज हम आप सभी के लिए Indian Economy in Hindi PDF बोहत ही महत्वपूर्ण पीडीऍफ़ लेकर आये है जो आपके आने वाले सभी सरकारी एग्जाम में बोहत ही महत्वपूर्ण साबित हो सकती है आज हम आपको BHARTIY ARTHVEVSTHA KI SAMPURN JAANKARI KI HINDI PDF, भारतीय अर्थव्यवस्था के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रधान करेंगे जिससे आप सभी को पता लग सके की भारतीय अर्थव्यवस्था क्या है

दोस्तों आपके लिए रोज नए नए अपडेट लाते रहते है क्युकी हम चाहते है की आप हर सरकारी एग्जाम में अच्छे से अच्छे अंक ला सको इसलिए दोस्तों हम आपके लिए रोज नए अपडेट लाते है आप हमारी वेबसाइट से किसी भी सब्जेक्ट की पीडीऍफ़ पा सकते है|

SSC, UPSC, Bank, Railway, State PCS, MPPSC, UPPSC, RPPSC, Defence and Army Exams और भी ऐसे एग्जाम है जिसमे GK Complete PDF बहुत महवत्पूर्ण हो सकती है हमारी वेबसाइट पर आपको हर तरह की सब्जेक्ट वाइज PDF जैसे Maths, Reasoning, General Knowledge, General Science, Environment, Indian History, Indian Polity, Indian Geography, World History, GK & Current Affairs, English Grammar, Hindi Grammar, State Wise GK Notes, Handwritten Notes, Class Notes, Physics, Chemistry, Biology, Static GK, One Liner Questions के साथ-साथ Online Quiz, Test Series, Previous Year Exam Questions, Practice Book, Most Important Question Answers, Practice Set की सभी प्रकार की पीडीऍफ़ उपलब्ध कराती है| अगर आपको किसी तरह की परेशानी आती है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके अपनी परेशानी बता सकते है| हमे आपकी एग्जाम से सम्बन्धित किसी भी प्रकार की समस्या को हल करने में बहुत ही खुशी होगी|

(Types of Economy) अर्थव्यवस्था तीन प्रकार की होती है

(1) पूंजीवादी 
(2 ) समाजवादी
(3) मिश्रित

हेलो दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे BHARTIY ARTHVEVSTHA KI SAMPURN JAANKARI KI HINDI PDF की भारतीय अर्थव्यवस्था. और पूंजीवाद,समाजवादी,मिश्रित, व्यापार और वाणिज्य,डी,जी ,एच कोल के अनुसार,के बारे सम्पूर्ण जानकारी बता रहे जो आपको निचे मिल जायेगी और साथ ही आपको पीडीऍफ़ की लिंक भी मिल जायेगी जो आप आसानी से डाउनलोड क्र सकते हो जिससे आपके आने वाले सभी कॉम्पिटशन एग्जाम में बोहत मद्द्त करेगी क्युकी हमारी वेबसाइट आपको किसी भी तरह की पीडीऍफ़ देती है तो वो किसी ना किसी कॉम्पिटिशन एग्जाम में बोहत ही इम्पोर्टेन्ट साबित होती है दोस्तों हम इतनी मेहनत करते है आपके लिए क्युकी हम चाहते है की जो स्टूडेन्ट हमारी वेबसाइट से किसी भी तरह की पीडीऍफ़ डाउनलोड करता है तो उस पीडीऍफ़ से उसके आने वाले कॉम्पिटिशन एग्जाम में जरूर आये और वो अच्छे से अच्छे अंक ला सखे तो दोस्तों आज की पीडीऍफ़ में आपको भारतीय अर्थव्यवस्था, के बारे सम्पूर्ण जानकारी मिल जायेगी:|

पूंजीवादी

पूजिवांद एक ऐसी आर्थिक प्रणाली है जिसके केंद्र पूजी या केपिटल होता है नाम से ही अस्पष्ट है पूंजीवाद में पूंजी का विसेष महत्व होता है पूंजी जिसके अंतर्गत भूमि मशीने और उत्पादन के साधन आदि आते है वो पूंजीपत के पास होते है|

पूंजीवाद तथा परिभाषा – सामान्य उस प्रणाली या आर्थिक तत को कहते है जिसमे उत्पादन के साधनो पर निजी सवामित्व होता है जिसमे उत्पादन का प्रमुख उददेश्य अधिकाधिक लाभ प्राप्त करना होता है पूंजी का निजी स्वामित्व , उत्पादन साधनो पर व्यक्तिगत नियंत्रण अधोगिक प्रतियोगिता होती है उपभोक्ता वस्तुओ का अनियतीत वितरण होता है चेमबर्स इग्लिश डिक्शनरी के अनुसार पूंजीवाद वः आर्थिक व्यवस्था हे जो पूंजीपति में शाक्ति का सुस्रजन करती है|

फग्र्युसन और क्रेप्स के अनुसार -अपने शूद्र रूप से मुक्त उधम,पूंजीवाद एक ऐसी प्रणाली है जिसमे निजी स्वामित्व और आर्थिक निर्णय निजी रूप से बनाये जाते है डी.जी.एच .कोल के अनुसार- पूंजीवाद का परिणाम असुरक्षा है . इसका सीधा सबंध मजूदरी से है जो श्रमिकों को अलग करता है जिसको खरीदा और बेचा जाय , परिणामशवरूप श्रमिकों को तभी मजदूरी डी जाती है जब सुको श्रम को खरीदना लाभदायक हो |

समाजवादी:

समाजवादी क्या बारे में जानकारी: समाजवाद व्यक्ति की अपेक्षा राज्य तथा समाज को अधिक महत्व देता है ,| समाजवादी व्यवस्था में धन – सम्पत्ति का स्वामित्व और वितरण समाज के नियंत्रण के अधीन होता है उत्पादन के सभी साधनो -पूंजी भूमि तथा सम्पत्ति इत्यादि पर राज्य का नियत्रण और प्रसाशन होना चाहिए

मिश्रित:

मिश्रित के बारे आप सब को जानकारी होगी अगर नहीं है तो भी हम बता दे की मिश्रित कृषि के बारे में तो आप सभ को पता ही होगा मिश्रित खेती जो फसल की जाती है और साथ साथ ही पशुपालन किया जाता है उसे मिश्रित कृषि या मिश्रित खेती कहते है और आपको बता दे की जब एक ही फसल बार बार एक ही जगह पर उगाया जाता हे तो उसे मिश्रित फसल कहते है

मिश्रित खेती क्यों:  मिश्रित खेती लाभ के लिए किया जाता है और मजदूरी के लिए भी किया जाता है और आप सब को पता है की खेती से ही हमे खान पान की कीसी तरह की कोई परेशानी नहीं आती है और इसका दूसरा उदेश्य पशु पालन पर जाता है जिसके कारण पसुओ को भी किसी तरह की कोई परेशानी न आये क्युकी हम सब जानते है की जबतक खेती है तब तक ही मनुष्य है और पशु है

व्यापार और वाणिज्य के बारे जानकारी:

हम सब को पता है की हमारे देश में कितना विकास हो रहा है और हमारे देश में अरबपतियों की संख्या कितनी तेजी से बढ़ रही है तो इसका मतलब ये है की हमारे भारत में व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्र तेजी से बढ़ रहा है एक रिपोर्ट के अनुसार अरबपतियों की सख्या में 15 % की कमी हुई,और अब कुल 793 में अरबपति है सर्वे के अनुशार भारत में 23 प्रतिशत अरबपति है जिनके पास भारत के उत्पादन का 16 प्रतिश हिंसा है|

BHARTIY ARTHVEVSTHA KI SAMPURN JAANKARI KI HINDI PDF

CLICK HERE DOWNLOAD NOW PDF 

exampura.com एक ऑनलाइन मच है जहा आप हर तरिके के एग्जाम की तैयारी कर सकते है जैसा PSC, SSC CGL, BANK, RAILWAYS, RRB NTPC, और अन्य एग्जाम की पीडीऍफ़ भी डाउनलोड कर सकते है

यह पोस्ट आप सभी स्टूडेंट्स की सरकारी एग्जाम की तैयारी को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है हमने इस पोस्ट में आपके लिए सभी जानकारी उपलबध करने का प्रयास किया है अगर आपको यह पोस्ट पसंद आती है तो इसे शेयर करना न भूले क्योकि आपका एक शेयर हमे आपके लिए सटीक जानकारी के साथ लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट लाने में मदद करेगा हम आशा करते है आप हमारे बनाये गए कंटेंट से संतुष्ट होंगे अगर आपको किसी भी प्रकार की त्रुटि या कमी लगती है तो आप कमेंट बॉक्स में हमे अपना सुझाव दे सकते है या हमे डायरेक्ट इस मेल – [email protected] पर मेल कर सकते है|

Other Links:

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: DMCA protected !!