fbpx

ISRO Full Form? Carrier Option, Job opportunity, Qualification

0

ISRO भारत का एक अंतरिक्ष अनुसन्धान केंद्र है, जिसका मुख्यालय बंगलौर में स्थित है। डॉ विक्रम साराभाई ने अंतरिक्ष प्रोद्योगिक की भूमिका को समझते हुए ISRO का गठन कराया गया। यही से ही ISRO ने भारत में अंतरिक्ष आधारित सेवाएं मुहैया कराने हेतु अपने सभी मिशन पर काम करना प्रारम्भ किया। इस संस्थान में वर्तमान समय में लगभग 17 हजार कर्मचारी एवं वैज्ञानिक कार्यरत हैं। अगर आप किसी प्रकार के Sarkari Exam या किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तयारी कर रहे है तो आपको ISRO के बारे में कम से कम सामन्य जानकारी होना आवश्यक है क्योंकि इन परीक्षाओ में ISRO से सम्बन्धित काफी सारे प्रश्न पूछे जाते है ISRO में हर दिन कुछ न कुछ नया गठित होता रहता है इसलिए इससे सम्बन्धित कुछ प्रश्न करंट अफेयर्स में भी मिल जाते है तो आइये आज हम आपको ISRO से सम्बन्धित सभी प्रकार की जानकारी आपको महैया करवाते है।

What is the Full Form of ISRO?

ISRO का पूरा नाम भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (Indian Space Research Organization) है। ISRO का गठन 1969 में भारत को अंतरिक्ष के समस्त खोजो और भारत में बने उपग्रहों को सही प्रकार से प्रक्षेपित करना एवं भारत को पूर्ण रूप से आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से किया गया।

ISRO ने अभी तक काफी सारे सफलतापूर्वक उपग्रह प्रक्षेपित किये है ISRO ने भारत के लिए 101 अंतरिक्ष मिशन, 72 प्रमोचन मिशन, 9 विद्यार्थी उपग्रह, 2 पुनः प्रवेश मिशन एवं 269 विदेशी उपग्रह सफलतापूर्वक प्रक्षेपित किये है

#संगठन का नामविवरण
1.ISRO की फुल फॉर्मIndian Space Research Organization (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र)
2.संगठन की प्रकृतिGovt. Organization
3.जनकडॉ विक्रम साराभाई
4.स्थापना1969
5.मुख्यालयबंगलौर, भारत
6.पहला उपग्रहआर्यभट (19 अप्रैल 1975)
7.दूसरा उपग्रहभास्कर-I (7 जून 1979)
8.विश्व में रैंक5th
9.सरकारी वेबसाइटisro.gov.in

What is ISRO? Complete Knowledge 

ISRO राष्ट्र के लिए विशिष्ठ उपग्रह और उपकरणों के उत्पाद एवं विकास के काम करता है। जिसमें से कुछ इस प्रकार हैं – प्रसारण, संचार, मौसम पूर्वानुमान, आपदा प्रबंधन उपकरण, भौगोलिक सूचना प्रणाली, मानचित्रकला, नौवहन, दूर-चिकित्‍सा, समर्पित दूरस्‍थ शिक्षा संबंधी उपग्रह।

ISRO के निर्माण डॉ विक्रम सरभाई के पर्यासो से किया गया इसलिए इन्हे ISRO के जनक भी कहा जाता है ISRO भारत सरकार के अधीन कार्य करता है जिसके कार्य की सम्पूर्ण रिपोर्ट प्रधानमंत्री के पास होती है।

ISRO ने अपने राष्ट्र एवं जनहित की सेवा करते हुए विश्व की पांचवी सबसे बड़ी अंतरिक्ष एजेंसी बन गई है जिसने सबसे ज्यादा अपने मिशन सफलतापूर्वक पूर्ण किये ISRO मंगल पर जाने में प्रथम प्रयास में ही सफलता प्राप्त करने वाली पहली एजेंसी है इसके अलावा किसी ने भी प्रथम प्रयास में मंगल ग्रह पर जाने में सफलता प्राप्त नहीं की है।

ISRO की सभी देशो में प्रशंशा का राज यह भी है की यह अन्य देशो की तुलना में कम से कम खर्च में ही अंतरिक्ष प्रोग्राम को अंजाम देती है एवं सकुशल उस मिशन को भी पूरा करती है। हल में ISRO ने अपना चंद्रयान-२ के मिशन को अंजाम दिया जिसका खर्च महज एक हॉलीवुड में बनने वाली फिल्म के बजट से भी कम है। चंद्रयान-२ मिशन में कुल 978 करोड़ (Approx 133 millions US dollars ) रुपए खर्च हुए।

भारत का पहला उपग्रह आर्यभट्ट था जिसे भारत के प्रशिद्ध गणितज्ञ आर्यभट्ट के नाम पर 19 अप्रैल 1975 में रखा गया। इस उपग्रह को रुसी राकेट लांचर द्वारा अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया गया यह ISRO द्वारा बनाया गया था। पहले उपग्रह की सफलता के बाद भारत ने 7 जून 1979 को अपने दूसरे उपग्रह का सफल प्रक्षेपण किया जिसका नाम भास्कर-I था।

प्रौद्योगिकी के साथ साथ ISRO ने भारत में विज्ञान एवं तकनिकी शिक्षा में भी बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया। आज सभी भारतीयों को ISRO के इस महानतम कार्यो के लिए गर्व है जो की राष्ट्र के निर्माण में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है इसरो समय समय पर देश के प्रतिभाशाली विद्यार्थियों के लिए इंटर्नशिप प्रोग्राम भी आयोजित करती रहती है जिससे देश में उन्नत रूप से विज्ञान का प्रचार प्रसार होता रहे और देश के विद्यार्थी अपने देश के लिए नवीनतम खोजो को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दे सके।

ISRO Center 

#स्थानकेंद्र
1.चंडीगढ़ (Chandigarh)Semi-conductor Laboratory (अर्धचालक प्रयोगशाला, चंडीगढ़)
2.जोधपुर (Jodhpur)Regional Remote Sensing Centre (क्षेत्रीय रिमोट सेंसिंग सेंटर, जोधपुर)
3.उदयपुर (Udaipur)Solar Observatory (सौर वेधशाला, उदयपुर)
4.अहमदाबाद (Ahemdabad)1. Space Applications Centre (अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र)

2. Physical Research Laboratory (PRL) / भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (पीआरएल)

3. Development and Educational Communication Unit (DACU) / विकास और शैक्षिक संचार यूनिट (डेकू)

5.माउंट आबू (Mount Abu)Mount Abu InfraRed Observatory (माउंट आबू इंफ्रारेड वेधशाला)
6.भोपाल (Bhopal)Menon Control Facility (MCF) / मेनन नियंत्रण सुविधा (एमसीएफ)
7.मुंबई  (Mumbai)ISRO Liaison Office (इसरो संपर्क कार्यालय)
8.बयलालू (Bayalalu)1. Indian Deep Space Network (IDSN) / इंडियन डीप स्पेस नेटवर्क (IDSN)

2. Indian Space Science Data Centre (ISSDC) / भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान डाटा सेंटर (ISSDC)

9.हासन (Hassan)Main Control Facility (MCF) / मुख्यन नियंत्रण सुविधा (एम.सी.एफ.)
10.बंगलौर (Bangalore)
  1. Space Commission / अंतरिक्ष आयोग
  2. Department of Space (DOS) and ISRO Headquarters (ISRO Chief) / अंतरिक्ष विभाग (अं.वि.) तथा इसरो मुख्याभलय (इसरो मु.)
  3. INSAT Programme Office / इनसेट कार्यक्रम कार्यालय
  4. NNRMS Secretariat / एनएनआरएमएस सचिवालय
  5. Civil Engineering Programme Office / सिविल इंजीनियरिंग कार्यक्रम कार्यालय
  6. Antrixay Corporation Limited / एंट्रिक्सय कॉर्पोरेशन लिमिटेड
  7. U.R Rao Satellite Center, (URSC) / यू.आर. राव उपग्रह केंद्र, (यू.आर.एस.सी.)
  8. Electrical Optics System Laboratory (Leos) / विद्युत प्रकाशिकी तंत्र प्रयोगशाला (लियोस)
  9. ISRO Telemetry Tracking and Order Network (Istroke) / इसरो दूरमिति अनुवर्तन और आदेश नेटवर्क (इस्ट्रैोक)
  10. Southern RRSC / दक्षिणी आरआरएससी
  11. Fluid Propulsion System Center (LPSC) / द्रव नोदन प्रणाली केंद्र (एल.पी.एस.सी.)
11.आलूवा (Aloeva)Ammonium Perchlorate Experimental Plant / अमोनियम पर्क्लोरेट प्रायोगिक संयंत्र
12.नई दिल्ली (New Delhi)
  1. DOS Branch Secretariat (डॉस शाखा सचिवालय)
  2. ISRO Branch Office (इसरो शाखा कार्यालय)
  3. Delhi Earth Station (दिल्ली अर्थ स्टेशन)
13.देहरादून (Dehradun)
  1. Indian Remote Sensing Foundation (IIRS) / भारतीय सुदूर संवेदन संस्थावन (आई.आई.आर.एस.)
  2. Centre for Space Science and Technology Education in Asia-Pacific (CSSTEAP) / एशिया-प्रशांत में अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी शिक्षा केंद्र (CSSTEAP)
14.लखनऊ (Lucknow)ISTRAC Ground Station (ग्राउंड स्टेशन)
15.कोलकाता (kolkata)Eastern RRSC (पूर्वी आरआरएससी)
16.शिलांग (shillong)North Eastern Space Applications Center (BCE-SAC) / उत्तीर पूर्वी अंतरिक्ष उपयोग केंद्र (उ.पू.-सैक)
17.नागपुर (Nagpur)Central RRSC
18.हैदराबाद (Hyderabad)National Remote Sensing Center (NRSC) / राष्ट्री य सुदूर संवेदन केंद्र (एन.आर.एस.सी.)
19.तिरुपति(Tirupati)National Atmospheric Research Laboratory (NARL) / राष्ट्री य वायुमंडलीय अनुसंधान प्रयोगशाला (एन.ए.आर.एल.)
20.पोर्ट ब्लेयर (Port Blair)Down Range Station / डाउन रेंज स्टेशन
21.श्रीहरीकोटा (Sriharikota)Satish Dhawan Space Center (SDSC) SHAR/ सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एस.डी.एस.सी.) शार
22.महेंद्रगिरि (Mahendragiri)ISRO Propulsion Complex / इसरो प्रोपल्शन कॉम्प्लेक्स
23.तिरुवनन्तपुरम (Thiruvananthapuram)
  1. Vikram Sarabhai Space Center (VSSC) / विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वी.एस.एस.सी.)
  2. Fluid Propulsion System Center (LPSC) / द्रव नोदन प्रणाली केंद्र (एल.पी.एस.सी.)
  3. ISRO Inertial System Unit (IISU) / इसरो जड़त्वीरय प्रणाली यूनिट (आई.आई.एस.यू.)
  4. Indian Institute of Space Science and Technology (IIST) / भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थाान (आई.आई.एस.टी.)

ISRO’s Successful Applications (इसरो के सफलतम अनुप्रयोग)

भू प्रेक्षण (Soil observation):

#क्षेत्र
1.कृषि एवं मृदा (Agriculture and soil)
2.जैव संसाधन एवं पर्यावरण (Bioresources & Environment)
3.मानचित्र कला (Map art)
4.भू-विज्ञान एवं खनिज संसाधन (Geoscience and Mineral Resources)
5.महासागर एवं मौसमविज्ञान (Ocean and Meteorology)
6.ग्रामीण विकास (Rural development)
7.शहरी विकास (Urban Development)
8.जल संसाधन (Water Resources)
9.प्राकृतिक संसाधन गणना (Natural Resource Census)
10.आपदा प्रबंधन सहायता (Disaster management assistance)
11.जलवायु परिवर्तन अध्‍ययन (Climate change study)

उपग्रह संचार (Satellite communication):

हमारे देश में टेलीवि‍जन डी टी एच प्रसारण, मनोरंजन, डि‍जीटल उपग्रह समाचार समाहरण (डीएसएमजी) तथा वी-सैट जैसे विविध अनुपयोगों में उपग्रह प्रणाली का प्रयोग बहुत महत्वपूर्ण हो गया है। तब से अब तक इन वर्षों के दौरान यह तकनीक और भी अधिक परिपक्‍व हो गई है।

Satellite communication 
Satellite communication

आपदा प्रबंधन (Disaster Management):

देश में सभी प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं से निपटने एवं उससे सम्बन्धित सभी प्रकार की जानकारिया पहले प्राप्त करने हेतु ISRO बड़े पैमाने पर कार्य कर रही है इसमें बाढ़, चक्रवात, कृषि सूखा, दावाग्नि, भूस्‍खलन , भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाओं से पहले ही निपट सके उसके लिए सभी संभवत अनुप्रयोग कर रही है जिससे ऐसी आपदाये आने से पहले उनका पता लगाया जा सके और देश के लोग एवं देश की आर्थिक सम्पति के नुकसान को कम किया जा सके|

 

Disaster Management 
Disaster Management

ISRO Career Option

ISRO देश के विभिन केन्द्रो एवं क्षेत्रों में कुशलतम छात्रों का चयन करती जो की स्वतंत्र रूप से देश के नवीनतम विकास के कार्यो की खोज और अनुसन्धान में अपना योगदान दे सके| सभी छात्रों का ये सपना होता है की वो ISRO में अपना भविष्य बना सके परन्तु यह अपना चयन होना आसान नहीं है यह चयन के लिए आपको बहुत से पड़ावों से गुजरना पड़ता है परन्तु देश के कुछ ऐसे प्रतिभाशाली छात्रों के लिए यहां चयनित होना आसान होता है यहां विभिन छेत्रो में आप अपना भविष्य बना सकते है जैसे विज्ञानं एवं तकनिकी, कृषि क्षेत्र, चिकत्सा क्षेत्र, शिक्षा के क्षेत्र में, मनोरंजन के क्षेत्र में, समाजिक कल्याण में, अंतरिक्ष विभाग में आदि

Norms for Recruitment and Career Prospects

# भर्ती
1.Technical Assistant (तकनीकी सहायक)
2.Scientific Assistant (वैज्ञानिक सहायक)
3.Library Assistant (पुस्तकालय सहायक)
4.Program Assistant (कार्यक्रम सहायक)
5.Social Research Assistant (सामाजिक अनुसंधान सहायक)
6.Media Library Assistant (मीडिया पुस्तकालय सहायक)
7.Junior Producer (कनिष्ठ निर्माता)
8.Scientist (वैज्ञानिक)
9.Medical Officer (चिकित्सा अधिकारी)
10.Radiographer
11.Pharmacist (फार्मेसिस्ट)
12.Lab Technician (प्रयोगशाला तकनीशियन)
13.Administrative Officer (प्रशासनिक अधिकारी)
14.Accounts Officer (लेखा अधिकारी)

यह पोस्ट आप सभी को महत्वपूर्ण जानकारी एवं छात्रों की सरकारी एग्जाम की तैयारी को ध्यान में रखते हुए बनाई गई है हमने इस पोस्ट में आपके लिए सभी जानकारी उपलबध करने का प्रयास किया है अगर आपको यह पोस्ट पसंद आती है तो इसे शेयर करना न भूले क्योकि आपका एक शेयर हमे आपके लिए सटीक जानकारी के साथ लेटेस्ट न्यूज़ एंड अपडेट लाने में मदद करेगा हम आशा करते है आप हमारे बनाये गए कंटेंट से संतुष्ट होंगे अगर आपको किसी भी प्रकार की त्रुटि या कमी लगती है तो आप कमेंट बॉक्स में हमे अपना सुझाव दे सकते है या हमे डायरेक्ट इस मेल – [email protected] पर मेल कर सकते है|

Frequently Ask Questions

Q1:- ISRO का पूरा नाम क्या है
Ans:- ISRO का पूरा नाम भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (Indian Space Research Organization) है।

Q2:- ISRO का गठन किस वर्ष में हुआ?
Ans:- ISRO का गठन 1969 में भारत में हुआ?

Q3:- ISRO का सर्वप्रथम उपग्रह कौनसा था?
Ans:- ISRO का पहला उपग्रह आर्यभट एवं दूसरा उपग्रह भास्कर-१ था

Q4:- ISRO का जनक किसे खा गया है?
Ans:- ISRO के निर्माण में डॉ विक्रम साराभाई का महत्वपूर्ण योधन रहा इसलिए उन्हें ही इसरो का जनक कहते है

Q5:- ISRO का मुख्यालय खा पर स्थित है?
Ans:- ISRO का मुख्यालय बंगलौर, भारत में स्थित है?

Other Links:

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: DMCA protected !!